यात्री वाहनों की बिक्री पर लगा विराम

दिसंबर में यात्री वाहनों की बिक्री सालाना आधार पर 1.24 प्रतिशत घटकर 235,786 वाहन रह गई, क्योंकि निर्माताओं ने कमजोर खुदरा मांग और बीएस-6 उत्सर्जन मानक अनुकूल वाहनों को देखते हुए उत्पादन में कटौती करने का निर्णय लिया। बिक्री में गिरावट काफी हद तक यात्री कार बिक्री में कमजोरी की वजह से दर्ज की गई। यात्री कार बिक्री 8.4 प्रतिशत घटकर 142,126 वाहन रह गई। उद्योग का कहना है कि जब देश की कुल आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा तो उपभोक्ता धारणा में भी बदलाव दिखेगा जिससे बिक्री को बढ़ावा मिलेगा।

वाहन निर्माताओं के संगठन सायम के अध्यक्ष राजन वढ़ेरा ने कहा, ‘8-10 प्रतिशत छूट की पेशकश की स्थिति में ही बिक्री में कुछ सुधार दिखा है। जब जीडीपी 6-7 प्रतिशत तक बढ़ेगी, तो हम वाहन बिक्री में तेज वृद्घि देख सकेंगे।’ वढेरा ने कहा कि उद्योग को कर लाभ के तौर पर बजट से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। सायम द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, हुंडई मोटर इंडिया, महिंद्रा ऐंड महिंद्रा और रेनो इंडिया तथा एमजी मोटर इंडिया और किया मोटर्स द्वारा नए वाहनों की पेशकश की मदद से यूटिलिटी वाहनों के लिए फैक्टरी से ढुलाई सालाना आधार पर 30 प्रतिशत तक बढ़कर 85,252 वाहन रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *